गोरखपुर हादसा : CM योगी ने डॉ0 कफील खान को इन्सेफेलाइटिस विभाग...

गोरखपुर हादसा : CM योगी ने डॉ0 कफील खान को इन्सेफेलाइटिस विभाग के प्रमुख पद से हटाया

43
0
SHARE
Gorakhpur tragedy: Meet Dr Kafeel Khan, the hero who saved the lives of countless children

गोरखपुर:  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उस अस्पताल का दौरा किया, जहां पांच दिनों में 60 बच्चों की मौत हो गई है। उन्होंने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इस दौरान योगी को आम जनता के गुस्से का सामना करना पड़ा। उन्होंने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में कही गई अपनी बात को दोहराया, “किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।” 

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से 36 बच्चों की मौत के बीच बच्चों की जान बचाने वाले मसीहा के तौर पर उभरे एनआईसीयू प्रमुख डॉक्टर कफील खान को उनके पद से हटा दिया गया है. अब डॉक्टर महेश शर्मा नए प्रमुख होंगे. आपको बता दें कि 10 अगस्त को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने के बाद 36 बच्चों की मौत हो गई है. हालांकि, सूबे की सरकार ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से मौत का इनकार कर रही है. एक दिन पहलेे ही अस्‍पताल के प्रिंसिपल को सस्‍पेंड कर दिया गया था जिसके बाद रविवार को उन्‍होंने हादसे की नैतिक जिम्‍मेदारी लेते हुए इस्‍तीफा दे दिया.

अब योगी सरकार ने चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में एक जांच कमेटी बनाई है. आपको बता दें कि गुरुवार की रात के करीब 2 बज रहे थे. कफील खान को जानकारी मिली कि ऑक्सीजन खत्म होने वाली है. कफील खान की नींद उड़ गई, तुरंत वो अपनी गाड़ी से मित्र डॉक्टर के अस्पताल पहुंचे और वहां से ऑक्सीजन का 3 जंबो सिलेंडर लेकर के सीधे बीआरडी हॉस्पिटल आ गए. कुछ देर के लिए डॉ. कफील खान के प्रयास से राहत हो गई. लेकिन सुबह जब ऑक्सीजन खत्म हुई तो अस्पताल में हाहाकार मच गया. सूत्रों के अनुसार, डॉ. कफील खान पर प्राइवेट प्रैक्टिस करने का आरोप है. वैसे डॉ. कफील दो साल पहले ही संविदा पर तैनात हुए थे. 6 माह पहले ही वह असिस्टेंट प्रोफेसर बने थे, जिसके बाद उन्हें इंचार्ज बनाया गया था.