कश्मीरः बुरहान की बरसी पर घाटी में अलर्ट, इंटरनेट बंद

कश्मीरः बुरहान की बरसी पर घाटी में अलर्ट, इंटरनेट बंद

17
0
SHARE

 

श्रीनगर । हिजबुल आंतकी बुरहान वानी के इन्काउंटर के 8 जुलाई को एक साल पूरे होने से पहले घाटी में तनाव बढ़ गया है. अलगाववादियों ने जहां विरोध प्रदर्शनों का एक हफ्ते का कार्यक्रम जारी किया है वहीं सुरक्षा एजेंसियों ने भी अपनी कमर कस ली है. गुरुवार रात से अगले आदेश तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं और सोशल मीडिया साइट्स को बंद करने का आदेश दिया गया है.

केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने बताया कि हम कश्मीर में हालात को नियंत्रण में रखने के लिये पूरी तरह से तैयार है. इसके लिये केंद्रीय बलों की 214 कंपनियां भेज कर दी हैं. जिससे आठ जुलाई और फिर अमरनाथ यात्रा के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था बहाल रखी जा सके. उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों की यह संख्या राज्य पुलिस बल से अतिरिक्त है.

महर्षि ने बताया कि कश्मीर घाटी में अशांति की आशंका के मद्देनजर सभी संभावित खतरों का विश्लेषण कर एहतियाती कदम उठाये गए हैं. इस बाबत कश्मीर घाटी में किसी भी स्थिति से निपटने के लिये पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों की भी तैनाती की गई है. राज्य के चार जिले पुलवामा, कुलगाम, शोपियां और अनंतनाग में बुरहान वानी की मौत के बाद पिछले एक साल से हिंसा की चपेट में आ गये हैं.